You are currently browsing the tag archive for the ‘Punjabi’ tag.

The mool mantra is the first composition of the Sikh Holy Book (Granth) and was composed by Guru Nanak. (Mool means root or origin)

Punjabi Verses with English Translation

Ik Onkaar
There is one God

Sat Naam
Whose name is Truth

Kartaa Purakh
Is the creator

Nirbh-a-o Nirvair
Has no fear, Has no hate

Akaal Moorat
Is omnipresent

Ajoonee Saibhn
Never born and Self-perpetuating

Gur Parsaad
With Guru’s grace

Jap
Recite (pray)

Aad Sach
True since beginning (of time)

Jugaad Sach
True through ages

Hai Bhee Sach
Is true now

Naanak Hosee Bhee Sach
Says Nanak, will forever be true

Sochai Soch Naa Hov-a-ee
By thinking, (god) cannot be known

Jay Sochee Lakh Vaar
Even if you think a hundred thousand times (lakh)

Chupai Chup Naa Hov-a-ee
Even by remaining quiet (silent), inner stillness won’t happen

Jay Laa-i Rahaa Liv Taar
Even if poised deep in meditation forever

Bhukhi-aa Bhukh Naa Utree
The hungry will not be satiated

Jay Bannaa Puree-aa Bhaar
Even if  loaded with worldly goods

Sehas Si-aanpaa Lakh Hoh Taa
One may possess a million wits

Ik Naa Chalai Naal
But not one will accompany you (to the end)

Kiv Sachi-aaraa Ho-ee-ai
So how can we realize truth?

Kiv Koorhai Tutai Paal
How can one shatter the falsehood?

Hukam Rajaa-ee Chalnaa Naanak Likhi-aa Naal
Says Nanak, it is by abiding the command and walking the path as willed by God.

Disclaimer: I am not a Punjabi and tried my best to get the essence and real meaning of the verses. Please let me know if you have a better translation of any of the words. Thank you.
Advertisements

Though the song has been picturized as a love song, it is actually Bulleh Shah crying out for God. He is pleading with God to reveal himself, even to give him a false glimpse so that Bulleh’s heart can find a respite. This is Sufi poetry, through which Bulleh Shah used to express himself.

My earlier post on Bulleh Shah. Another beautiful song.

Lyrics in Hindi

मेरी रूह का परींदा फड़फडाये
लेकिन सुकून का जज़ीरा मिल न पाए
वे की करां.. वे की करां..

इक बार को तजल्ली तो दिखा दे
झूठी सही मगर तसल्ली तो दिला दे
वे की करां.. वे की करां..

[रान्झां दे यार बुल्लेया
सुनले पुकार बुल्लेया
तू ही तो यार बुल्लेया
मुर्शिद मेरा, मुर्शिद मेरा
तेरा मुकाम कमले
सरहद के पार बुल्लेया
परवरदिगार बुल्लेया
हाफ़िज़ तेरा, मुर्शिद मेरा ] x २

मैं कागुल से लिपटी
तितली की तरह मुहाजिर हूँ
एक पल को ठहरूं
पल में उड़ जाऊं
वे मैं तां हूँ पगडंडी
लब्दी ऐ जो राह जन्नत की
तू मुड़े जहाँ मैं साथ मुड़जाऊं

तेरे कारवां में शामिल होना चाहुँ
कमियां तराश के मैं क़ाबिल होना चाहुँ
वे की करां.. वे की करां..

[रांझन दे यार बुल्लेया
सुनले पुकार बुल्लेया
तू ही तो यार बुल्लेया
मुर्शिद मेरा, मुर्शिद मेरा
तेरा मुकाम कमले
सरहद के पार बुल्लेया
पर्यार्दिगर बुल्लेया
हाफ़िज़ तेरा मुर्शिद मेरा ] x २

रांझना वे.. रांझना वे..
जिस दिन से आशना से दो अजनबी हुवे हैं
तन्हाईओं के लम्हें सब मुल्तबी हुवे हैं
क्यूँ आज मैं मोहब्बत
फिर एक बार करना चाहूँ हाँ..

ये दिल तो ढूंढता है इनकार के बहाने
लेकिन ये जिस्म कोई पाबंदियां ना माने
मिलके तुझे भागवत
ख़ुद से ही यार करना चाहूँ

मुझमें अगन है बाकी आजमा ले
ले कर रही हूँ ख़ुद को मैं तेरे हवाले
वे रांझना.. वे रांझना..

[रान्झां दे यार बुल्लेया
सुनले पुकार बुल्लेया
तू ही तो यार बुल्लेया
मुर्शिद मेरा, मुर्शिद मेरा
तेरा मुकाम कमले
सरहद के पार बुल्लेया
परवरदिगार बुल्लेया
हाफ़िज़ तेरा, मुर्शिद मेरा ] x २
मुर्शिद मेरा, मुर्शिद मेरा..

Movie: Highway (2014)

Singers: Sultana & Jyoti (Nooran sisters)
Music: A. R. Rahman
Lyrics: Irshad Kamil

Patakha Guddi – Fiery (like a firecracker) Kite. Meaning a fun-loving, fearless girl.

हां…
मीठे पान दी गिल्लौरी
लट्ठा सूट दा लाहोरी
फट्टे मार दी बिल्लोरी

जुगनी मेल-मेल के
कूद फांद के
चक्क छकाते जावे

मौला तेरा माली यो
हरियाली जंगल वाली
तू दे हर गाली पे ताली
उसकी क़दम-क़दम रखवाली

ऐंवे लोकलाज कि सोच-सोच के
क्यूं है आफत पाली
तू ले नाम रब का, नाम साईं का
अली अली अली अली
नाम रब का, नाम साईं का
अली अली अली अली

शर्फ़ ख़ुदा का, जर्फ़ ख़ुदा का
अली अली अली अली
शर्फ़ ख़ुदा का, जर्फ़ ख़ुदा का
अली अली अली अली
अली हो… अली हो…
चली ओ… रे चली चली, चली ओ…

अली अली तेरी गली
वोह तो चली
अली अली
तेरी गली चली ओ…

ओ जुगनी ओ…
पटाखा गुड्डी ओ
नशे में उड़ी जाए रे हाय रे
सज्जे खब्बे धब्बे किल्ली ओ
पटाखा गुड्डी ओ
नशे में उड़ी जाए रे हाय रे
सज्जे खब्बे धब्बे किल्ली ओ

मौला तेरा माली यो
हरियाली जंगल वाली
तू दे हर गाली पे ताली
उसकी क़दम क़दम रखवाली

ऐंवे लोक लाज कि सोच सोच के
क्यूं है आफत ताली
तू ले नाम रब का, नाम साईं का
अली अली अली अली
नाम रब का, नाम साईं का
अली अली अली अली

मैंने तो तेरे तेरे उत्ते छडियां डोरियां
मैंने तो तेरे तेरे उत्ते छडियां डोरियां
तू तो रब का बांका बच्चा
राज दुलारा तू ही
पाक रब का बांका बच्चा
उसका प्यारा तू ही
मालिक ने जो चिंता दी तो
दूर करेगा वोही
नाम अली का लेके तू तो
नाच ले गली गली
ले नाम अली अली…
नाच ले गली गली
ले नाम अली अली…
नाच ले गली गली
ले नाम अली अली…

अली ओ…

तू ले नाम रब का, नाम साईं का
अली अली अली अली
नाम रब का, नाम साईं का
अली अली अली अली ओ…

जुगनी रुख पीपल दा होई
जिसनु पूजता हर कोई
जिसदी फ़सल किसे ना बोयी
घर वी रख सके ना कोई

रास्ता नाप रही मरजानी
पत्ती बारिश दा है पानी
जब नज़दीक जहां दे आनी
जुगनी मैली सी हो जानी

तू ले नाम रब दा अली अली
चल खाल्ले रन चली
नाम रब दा अली अली
हर दरवाज़ा अली
साईं रे… साईं रे…

मैंने तो तेरे तेरे उत्ते छडियां डोरियां
मैंने तो तेरे तेरे उत्ते छडियां डोरियां
ओ…

Share the word

Bookmark and Share

Archives

Map
wordpress com stats plugin
Advertisements